Monday, 23 December 2019

मौसम अपडेट: कंपकंपा देने वाली सर्दी से अभी राहत नहीं, कश्मीर-उत्तराखंड में जारी रहेगी बर्फबारी


अगर आप ठंड से राहत पाने का इंतजार कर रहे हैं, तो फिलहाल ऐसे संकेत नहीं मिल रहे हैं। कंपकंपा देने वाली सर्दी से जूझ रहे उत्तर भारत को फिलहाल राहत मिलने के आसार नहीं हैं। लोगों को इस सप्ताह के आखिरी दो दिनों में और भी भीषण सर्दी का सामना करने के लिए तैयार रहना होगा। इस बार कड़ाके की सर्दी, क्रिसमस और नए साल में खलल डाल सकती है।

मौसम विभाग ने दिल्ली एनसीआर, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश के अधिकांश इलाकों और उत्तरी राजस्थान में 28 और 29 दिसंबर को पारा चार डिग्री सेल्सियस तक गिरने का पूर्वानुमान व्यक्त किया है।  इन दो दिनों में शीत लहर चलने की भी संभावना जताई है। सर्दी के इस मौसम में मानकों के मुताबिक शीत लहर की स्थिति पहली बार उत्पन्न होगी। मौसम विभाग की उत्तर क्षेत्रीय पूर्वानुमान इकाई के प्रमुख वैज्ञानिक डा. कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि हिमालय क्षेत्र में जारी बर्फबारी से अगले दो तीन दिनों में सर्दी में इजाफा होने की संभावना है। इसके कारण उत्तर के मैदानी इलाकों में आगामी शनिवार और रविवार को शीत लहर की स्थिति देखने को मिलेगी। उत्तर भारत में सप्ताहांत के दौरान न्यूनतम तापमान चार डिग्री और अधिकतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस तक रहने का अनुमान है।

कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल में बर्फबारी जारी रहेगी
डा. श्रीवास्तव ने कहा कि हिमालय क्षेत्र में जम्मू कश्मीर, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में इस सप्ताह भी बर्फबारी बरकरार रह सकती है। पाकिस्तान और अफगानिस्तान से भारत के उत्तरी इलाकों की ओर आने वाली ठंडी हवाएं सर्दी में इजाफा कर रही हैं। मध्य प्रदेश, बिहार, उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा और पंजाब सहित उत्तर और उत्तर पश्चिमी इलाकों में 28 दिसंबर से रात के तापमान में दो से चार डिग्री तक की गिरावट आने का अनुमान है। 

यूपी के मुरादाबाद में ठंड का कहर जारी
सोमवार को नगर के लोग बर्फीली हवा के कहर से ठिठुर उठे। दिन भर धूप नहीं निकलने से दिन का अधिकतम तापमान लुढ़ककर 12 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया। यह सर्दी के इस मौसम में दिन का सबसे कम तापमान रहा। रात का न्यूनतम तापमान और घटने से ठंड के तेवर और प्रचंड हो गए।

पिछले दस दिनों का अधिकतम तापमान
तारीख           अधिकतम तापमान         सामान्य से कितना कम
23 दिसंबर        14.3                                      7
22 दिसंबर        14.6                                      7
21 दिसंबर        18.0                                    4.5
20 दिसंबर        17.5                                       5
19 दिसंबर        15                                          7
18 दिसंबर        18                                          5
17 दिसंबर        12.2                                      10
16 दिसंबर        12.9                                      10
15 दिसंबर        19.8                                        3
14 दिसंबर        19.2                                        4
Previous Post
Next Post

0 Comments: